A CSR Initiative of GAIL (India) Limited

Author: Manava Bharati

Disaster Management

श्रीजन एसएचजीः आपदा के अंधेरे में रोशनी बन गए समूह

त्यूड़ी गांव के पंचायत भवन में शुक्रवार चार अगस्त, 2017 की शाम चार बजे आरती स्वयं सहायता समूह की मासिक बैठक बुलाई गई है। बारिश सुबह से ही तेज है, इसलिए महिलाएं थोड़ा देरी से पहुंच रही हैं। करीब सवा चार बजे तक सभी सदस्य पंचायत भवन परिसर में हैं। जैसे ही जो…
Disaster Management

श्रीजन काउंसलिंगः जेहन में दबा दर्द बाहर निकला

मैं भगवान को नहीं मानती। अगर वो होता तो मेरा परिवार नहीं उजड़ता। मैंने तो किसी का कुछ नहीं बिगाड़ा था, तो मेरे परिवार को क्यों उजाड़ दिया। मेरे सामने से हट जाओ, चले जाओ यहां से। मैं कहां जाऊं, अब मेरा कोई नहीं बचा। उसका करुण क्रंदन सुनकर पूरा भीरी असहज…
Disaster Management

श्रीजन परियोजनाः चुनौतियां थीं पर हौसला नहीं खोया

गेल इंडिया के श्रीजन प्रोजेक्ट की नींव रखना कोई आसान काम नहीं था। मानवभारती संस्था के हर कार्यकर्ता के सामने बड़ी चुनौती थी कि उन लोगों से कैसे बात करें, जो छह माह बाद भी अपनी सुध बुध में नहीं हैं। हुआ यह था कि आपदा के बाद राहत के…
Disaster Management

रुद्रप्रयाग में श्रीजन परियोजना का पहला कदम

शुरुआत में श्रीजन परियोजना में रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि, ऊखीमठ और जखोली ब्लाकों के दस-दस यानि 30 गांव शामिल किए गए। जनभागीदारी से किए गए फील्ड सर्वे के नतीजों के अनुसार अगस्त्यमुनि के दस, ऊखीमठ के 15 और जखोली के पांच गांवों में परियोजना संचालित की गई। मार्च, 2014 की शुरुआत में श्रीजन परियोजना ने…
Disaster Management

श्रीजन परियोजना : आपदा के अंधेरे से समृद्धि के उजाले की ओर…

उत्तराखंड की केदारघाटी में जून, 2013 की आपदा से जूझ रहे रुद्रप्रयाग जिले के तीन ब्लाकों अगस्त्यमुनि, जखोली और ऊखीमठ के गांवों में स्थाई पुनर्वास और आजीविका प्रबंधन के लिए गेल इंडिया की पहल पर मानवभारती संस्था ने श्रीजन परियोजना की शुरुआत की। वर्तमान में दस गांवों में संचालित हो…
  • 1
  • 2